Thursday, May 23, 2024
- Advertisement -spot_img

AUTHOR NAME

Bhinmaldarshan

4 POSTS
0 COMMENTS

वराहश्याम मंदिर में 8 फीट की प्रतिमा, इसलिए क्षेत्र में अलग पहचान

मुख्य बाजार में स्थित भगवान वराहश्याम का मंदिर कई मान्यताओं को लेकर आसपास के क्षेत्र में प्रसिद्ध माना जा रहा हैं। मान्यता है कि...

श्री श्री 1008 श्री शांतिनाथ महाराज जालौर सिरे मंदिर

सर्वधर्म - सद्-भाव पर आधारित आपके आचरण ने यहाँ के सामाजिक - सास्कृत जीवन ने आपको अत्यन्त आदरणीय बना दिया है ।एवं हर व्यक्ति...

900 साल पुराना सुंधा माता का मंदिर, महाराणा प्रताप ने यहीं ली थी शरण

राजस्थान अपने पर्यटन क्षेत्रों के साथ ही ऐतिहासिक किलों, इमारतों और मंदिरों के बेजोड़ नमूनों के लिए जाना जाता है। तनोट माता, ईडाणा माता...

भीनमाल:- नवनिर्मित नीलकंठ महादेव मंदिर

( माणकमल भंडारी )भीनमाल । राजस्थान की पुण्यधरा भीनमाल नगर में जुंजाणी मार्ग पर नवनिर्मित नीलकंठ महादेव मंंदिर की 11 दिवसीय भव्य प्राण प्रतिष्ठा...

Latest news

- Advertisement -spot_img